इंडियन आइडल विनर उत्तराखंड के पवनदीप राजन अब राज सुरानी की म्यूजिकल सीरीज में आएंगे नज़र

इंडियन आइडल विनर उत्तराखंड के पवनदीप राजन अब राज सुरानी की म्यूजिकल सीरीज में आएंगे नज़र

Raj Surani’s Musical Series With Indian Idol Trio Pawandeep Rajan, Arunita Kanjilal & Shanmukha Priya

गायकी के विख्यात रियलिटी शो ‘इंडियन आइडल 12’ (Indian Idol 12) के विनर बने हैं उत्तराखंड के चंपावत के रहने वाले पवनदीप राजन (Pawandeep Rajan)। उनकी आवाज़ में जो देश की मिट्टी की सुगंध मौजूद है, शायद उसी का करिश्मा है कि उन्हें इतने बड़े रियलिटी शो का विजेता बनने का मौका मिला है। उन्हें अपने होम टाउन से बेहद लगाव है। जब उनसे पूछा जाता है कि वह अपने गाँव में क्या करना चाहते हैं तो वह बताते हैं कि वह बच्चों के लिए एक ऐसा म्यूजिक स्कूल शुरू करना चाहते हैं, जहाँ संगीत की तालीम दी जाती हो। पवनदीप अपने होम टाउन में एक ऐसे संगीत विद्यालय को बनाने की ख्वाहिश रखते हैं, जहां म्यूज़िक और सिंगिंग का शौक और जज़्बा रखने वाले बच्चों को उनके टैलेंट को सँवारने निखारने के लिए बेहतर ट्रेनिंग दी जा सके।

ऑक्टोपस एंटरटेनमेंट द्वारा मुम्बई में जब इंडियन आइडल की तिकड़ी पवनदीप राजन (Pawandeep Rajan), अरुणिता कांजीलाल (Arunita Kanjilal) और शंमुखा प्रिया (Shanmukha Priya) के साथ राज सुरानी की म्यूजिकल सीरीज का टीजर लॉन्च किया गया तो यहाँ पवनदीप राजन (Pawandeep Rajan) ये बातें कर रहे थे। वह इतने बड़े शो के विनर बने हैं मगर वह धरती से जुड़े नजर आए।


मामला यह है कि इंडियन आइडल के विजेता पवनदीप राजन (Pawandeep Rajan), फर्स्ट रनर-अप अरुणिता कांजीलाल (Arunita Kanjilal) और रॉक स्टार शंमुखा प्रिया (Shanmukha Priya) को एक यूनिक म्यूज़िक सीरीज के लिए राज सुरानी ने साइन किया है। आपने टीवी सीरीज, वेब सीरीज सुनी होगी लेकिन म्यूज़िक सीरीज शायद पहली बार होने जा रही है। इसमें कई गाने बनाए और रिलीज किए जाएँगे, जिनकी कहानी और थीम एक दूसरे से कनेक्टेड होगी। एक गाना जहाँ खत्म होगा, उससे आगे की स्टोरी दूसरे सांग में पेश की जाएगी। टीज़र लांच के मस्ती से भरे इस संगीतमय प्रोग्राम में पवनदीप, अरुणिता और शंमुखा प्रिया ने अपने शानदार प्रदर्शन से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। सिंगर्स ने कुछ ओरिजनल गाने गाए तो कुछ हिट गीतों को भी गाया, सभी ने उनकी आवाज़ के साथ उनके अंदाज को भी पसन्द किया। यह सभी बेहतरीन परफ़ॉर्मर हैं।
पवनदीप राजन ने बताया कि मुझे खुशी तो है पर इस बात का दुख भी है कि हम सारे प्रतियोगी अलग हो रहे थे। हम एक साथ, एक जगह पे महीनों से रह रहे थे, हमारे बीच एक दोस्ती एक बॉन्डिंग कायम हो गई थी। खैर हम बाहर मिलेंगे। 

पवनदीप राजन का मानना ​​है कि उनके घरवाले उन्हें जीतता देखकर बेहद खुश थे और ट्रॉफी उठाते ही उनकी माँ की आँखें नम हो गईं। “मैंने इसे सिर्फ टीवी पर देखा है और मुझे अभी भी इस पर यकीन नहीं हो रहा है, मैं एक सपना जी रहा हूँ।” पवनदीप कहते हैं।


इस अनोखी म्यूज़िक सीरीज के क्रिएटिव प्रोड्यूसर और डायरेक्टर राज सुरानी ने बताया, “जब मैंने इंडियन आइडल के सभी प्रमुख प्रतियोगियों के साथ वीडियो शूट किया, तो मुझे पवनदीप, अरुणिता और शंमुखा प्रिया की आवाज बहुत पसंद आई और एक इंट्रेस्टिंग ढंग से तीनों के साथ म्यूज़िक सीरीज बनाने का निर्णय लिया। इस म्यूज़िक सीरीज की शूटिंग कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के अलावा उत्तराखंड में भी की जाएगी।

इंडियन आइडल की उपविजेता अरुणिता कांजीलाल (Arunita Kanjilal) बेहद प्रसन्न और उत्साहित हैं कि सीखने का एक्सपीरिएंस जीवन भर के सपने को साकार कर रहा है। उन्होंने बताया कि, “मैंने सीखने के लिए इंडियन आइडल में प्रवेश किया और मेरे पास अद्भुत समय था। राज (सुरानी) सर, बहुत दयालु रहे हैं और हम जो गाने बना रहे हैं, उनके जरिये मैं एक असर छोड़ना चाहती हूँ।”

वहीं शंमुखा प्रिया (Shanmukha Priya) ने बताया कि, “इंडियन आइडल का हिस्सा बनने की मेरी बचपन की ख्वाहिश थी। इंडियन आइडल के दौरान, हमें मारुति कम्पैन में काम करने का अवसर मिला, यह हमारा पहला कम्पैन था। फिल्म के कैमरे का सामना करना वास्तव में हमारे लिए प्रेरणादायक था। हमें राज (सुरानी) सर और उनकी टीम ने बहुत प्रोत्साहित किया और प्रेरित किया। मैं वाकई ऑक्टोपस एंटरटेनमेंट के साथ म्यूज़िक सीरीज को लेकर हद से ज़्यादा खुश और एक्साइटेड हूं।”

राज सुरानी का कहना है कि, ​​“पवनदीप की आवाज प्योर है। अरुणिता कांजीलाल के बारे में कह सकता हूँ कि वह जल्द ही सबसे अधिक डिमांड वाली प्लेबैक सिंगर में से एक होंगी। वहीं शंमुखा प्रिया एक रियल रॉकस्टार और एक सच्ची फ़नकार हैं।”


इंटरेस्टिंग पॉइंट यह है कि एक महीने पहले तीनों को साइन करते समय राज सुरानी को इस बात की फिक्र नहीं थी कि इंडियन आइडल का विजेता कौन होगा। लेकिन उनकी पारखी नजरों ने शायद इन कलाकारों में वह आग देख ली थी जो दर्शकों को अपने जादू में ढाल लेती है। उन्होंने बताया, “वे सभी ग्रेट आर्टिस्ट हैं और म्यूज़िक जगत में कदम रखने से पहले ही उन सभी के बहुत सारे फैंस और फॉलोवर्स हैं। मुझे लगता है कि ये तीनों आज के समय के इंडियन रॉकस्टार हैं।”


आपको बता दें कि इंडियन आइडल के विनर पवनदीप राजन (Pawandeep Rajan) बहुमुखी प्रतिभा के मालिक हैं। वो सिंगिंग के अलावा कई तरह के म्यूज़िक इंस्ट्रूमेंट्स भी बजा लेते हैं। आपकी जानकारी के लिए बात दें कि 2015 में पवनदीप रियलिटी शो ‘द वॉइस ऑफ इंडिया’ के विजेता भी रह चुके हैं। 

गौरतलब है कि पवनदीप के खून में संगीत है। उनके दादा स्व. रति राजन भी विख्यात फोक सिंगर थे। उनके पिता सुरेश राजन कुमाऊँ के फेमस गायक हैं। पवनदीप की नानी भी लोकगायिका थीं। देखा जाए तो उनके घर मे ही संगीत का माहौल रहा है। उन्हें उनके पिता सुरेश राजन व चाचा सतीश राजन ने छोटी उम्र से ही संगीत की शिक्षा देनी शुरू कर दी थी। पवनदीप को बचपन से ही तबला बजाने में गहरी रूचि थी। कमाल की बात यह है कि पवनदीप की बहन ज्योतिदीप भी अच्छी गायिका हैं। 

उत्तराखंड की पहाड़ियों की फोक गायकी से लेकर इंडियन आइडल तक और अब म्यूज़िक सीरीज के लिए सिंगिंग तक पवनदीप राजन ने खुद को हर जगह सिद्ध किया है। हमें ऐसे इंडियन आइडल पर गर्व है,नाज है जो अब छोटे शहरों और गांव की प्रतिभाओं के लिए प्रेरणा बन रहे हैं।

About गाज़ी मोईन

गाजी मोईन मुंबई में काफ़ी समय से फ़िल्मी दुनिया में बतौर गीतकार, राईटर और फ़िल्म जर्नलिस्ट एक्टिव हैं। वह कवि भी हैं और आप मुंबई सहित देश भर के कई कवि सम्मेलनों और मुशायरों में अपनी शायरी पेश करते आए हैं। ऑल इंडिया रेडियो मुम्बई पर नियमित रूप से वह अपनी रचनाएं पेश करते आए हैं। म्यूज़िक एलबम "तू ही तो था" और "शब" के लिए लिखे हुए उनके गीत काफी मक़बूल हुए हैं। सिंगर रूप कुमार राठौड़ और ग़ज़ल सिंगर सोनाली राठौड़ की आवाज़ में उनके गीत और ग़ज़लें रिकॉर्ड हैं जिन्हें रेडियो मिर्ची से प्रसारित किया गया। गाज़ी मोईन ने दूरदर्शन के कई सीरियल्स लिखे हैं, कई म्यूज़िक चैनल से जुड़े रहे हैं और फ्रीलांसर के रूप में कई अख़बारों, मैगज़ीन के लिए लिखते रहे हैं। गाज़ी मोईन मुंबई में द इंडियन परफॉर्मिंग राईट सोसाइटी लिमिटेड के मेंबर भी हैं। गाज़ी मोईन को उनके योगदान के लिए "सिनेमा आजतक अचीवमेंट अवॉर्ड" सहित कई पुरूस्कार और सम्मानों से भी नवाजा जा चुका है। इनकी 2 पुस्तकें पब्लिश हो चुकी हैं।

View all posts by गाज़ी मोईन →

Leave a Reply